‘आर्यन खान को फंसाया गया, साफ हुआ ना? मेरी बात लिख लीजिए, महाराष्ट्र में साढ़े तीन लोग जेल जाकर रहेंगे’, बोले संजय राउत

'आर्यन खान निर्दोष, मैंने कहा था, आ गई रिपोर्ट, एक और बात लिखिए, महाराष्ट्र में साढ़े तीन लोग जेल जा रहे हैं', बोले संजय राउत

संजय राउत ने आर्यन खान पर आई एसआईटी रिपोर्ट, यूक्रेन में फंसे भारतीय विद्यार्थियों और महाराष्ट्र के बीजेपी नेता किरीट सोमैया के बेटे नील सोमैया की गिरफ्तारी से पहले जमानत अर्जी खारिज होने के मुद्दे पर अपनी प्रतिक्रियाएं दी. उन्होंने फिर यह दोहराया कि महाराष्ट्र में बीजेपी के साढ़े तीन नेता जेल जाने वाले हैं.
आर्यन खान संजय राउतशाहरुख खान (Shahrukh Khan SRK) के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan) से जुड़े ड्रग्स केस में यह साफ हो गया है कि आर्यन खान के पास से ड्रग्स बरामद नहीं हुआ था. वे ड्रग्स से जुड़े अंतर्राष्ट्रीय रैकेट से जुड़े नहीं हैं. ना ही ड्रग्स के कारोबार को फैलाने से संबंधित नेटवर्क या साजिश का हिस्सा थे. मुंबई एनसीबी की ओर से आर्यन खान के खिलाफ की गई कार्रवाई के खिलाफ शिकायतों की जांच के लिए विशेष जांच दल गठित किया गया था. उसी एसआईटी टीम की  एक अहम रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है. एसआईटी ने यह भी कहा है कि आर्यन खान के पास से ड्रग्स नहीं मिले थे. ऐसे में उनके फोन को जब्त करने की जरूरत नहीं थी. अगर फोन जब्त किया भी गया तो उनके वाट्सअप चैट से यह साबित नहीं होता कि वे किसी ड्रग्स रैकेट से जुड़े हुए हैं. साथ ही एसआईटी ने एनसीबी द्वारा मुंबई से गोवा जाने वाली क्रूज में छापेमारी का वीडियो रिकॉर्ड नहीं किए जाने को बड़ी गलती बताया है. एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि छापेमारी को रिकॉर्ड किया जाना एनसीबी के मैन्युअल का जरूरी हिस्सा है, जिसकी अनदेखी की गई. अब इस पूरे मुद्दे पर शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है.
आज (बुधवार, 2 मार्च) सुबह पत्रकारों से बात करते हुए संजय राउत ने आर्यन खान पर आई एसआईटी रिपोर्ट, यूक्रेन में फंसे भारतीय विद्यार्थियों और महाराष्ट्र के बीजेपी नेता किरीट सोमैया के बेटे नील सोमैया की गिरफ्तारी से पहले जमानत अर्जी खारिज होने के मुद्दे पर अपनी प्रतिक्रियाएं दी. उन्होंने फिर यह दोहराया कि महाराष्ट्र में बीजेपी के साढ़े तीन नेता जेल जाने वाले हैं.
‘आर्यन खान को फंसाया गया, मैंने पहले ही कहा था’
संजय राउत ने कहा, ‘आर्यन खान मामले को जबर्दस्ती खड़ा किया गया था. अब ये साबित हो गया. सच सामने आया ना? एसआईटी की रिपोर्ट आई है ना? आर्यन खान को इसलिए फंसाया गया क्योंकि वो शाहरुख खान का बेटा है. आर्यन खान को इसलिए फंसाया गया क्योंकि वो एक बड़ा नाम है. आर्यन खान को इसलिए फंसाया गया क्योंकि किसी को बदनाम करना था. आर्यन खान को इसलिए फंसाया गया  कि उनसे वसूली करनी थी. यही हमारे साथ भी हो रहा है. केंद्रीय जांच एजेंसियां महाराष्ट्र में यही सब कर रही है. सरकार को बदनाम करना, उनके खिलाफ कार्रवाई कर के सरकार को अस्थिर करने की कोशिश करना शुरू है. इन अधिकारियों को गलतफहमी है कि इनका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता क्योंकि केंद्र से इन्हें सपोर्ट है. शिवसेना लड़ेगी. एक-एक शिवसैनिक लड़ेगा. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे लड़ेंगे. महाविकास आघाडी लड़ेगी. नहीं झुकेंगे.’

 ‘हम फिर दोहरा रहे हैं, सोमैया बाप-बेटे जेल जा रहे हैं’
संजय राउत ने बीजेपी नेता किरीट सोमैया के बेटे नील सोमैया द्वारा गिरफ्तारी से पहले जमानत की अर्जी सेशंस कोर्ट द्वारा रद्द कर दिए जाने के मुद्दे पर बोले, ‘पीएमसी घोटाले में, या और भी भ्रष्टाचार के मामले जो अब तक दबाए गए थे, एक-एक कर अब सब सामने आएंगे. बहुत से लोग सामने आए हैं. कोई गलती नहीं कि तो बाप बेटे एंटीसिपेट्री बेल क्यों मांग रहे हैं. इस कोर्ट से वहां, उस कोर्ट से यहां क्यों भाग रहे हैं. मैंने पहले ही साढ़े तीन लोगों का जिक्र किया है. मार्क माइ वर्ड्स. ये बाप बेटे जेल जा रहे हैं. और भी कुछ लोग जो बड़ी-बड़ी बातें करते हैं, केंद्रीय जांच एजेंसियों का गलत इस्तेमाल करते हैं, वे जेल जा रहे हैं.’
‘सिर्फ केंद्र के पास ही नहीं जांच एजेंसियां हैं, महाराष्ट्र के पास भी शक्तियां हैं’
आगे संजय राउत ने कहा, ‘सिर्फ केंद्र के पास ही नहीं, महाराष्ट्र में भी जांच करने की सही व्यवस्था है. ऐसा एक मामला नहीं है ऐसे कई मामले हैं जिस वजह से ये बाप बेटे जेल जाएंगे. किडनैपिंग, वसूली जैसे कई मामले सामने आएंगे. महाराष्ट्र की जांच व्यवस्था के पास महाराष्ट्र में हुए अपराध के लिए जांच कर गुनहगारों को जेल भेजने का अधिकार है.’
‘पहले यूक्रेन में फंसे बच्चों को बचाइए, फिर खूब गाजे-बाजे बजाइए’
रशिया-यूक्रेन के बीच युद्ध की वजह से वहां फंसे स्टूडेंट्स को लेकर केंद्र सरकार की नीतियों पर भी संजय राउत ने जोरदार हमला किया. संजय राउत ने कहा, ‘भारतीय विद्यार्थियों को वहां लात-घूंसे से मारा जा रहा है, वीडियोज सामने आए हैं. एक विद्यार्थी की मौत हुई है. देश मजबूत है. देश की सुरक्षा को लेकर मुझे पूरा भरोसा है. लेकिन जो लोग केंद्र में सरकार चला रहे हैं, उनसे सवाल है. अमेरिका का कोई नागरिक वहां क्यों नहीं फंसा और देशों के विद्यार्थी वहां क्यों नहीं फंसे. भारत के ही विद्यार्थी वहां क्यों फंसे?’
संजय राउत ने साफ कहा कि केंद्र सरकार की ओर से भारतीय विद्यार्थियों को सही समय पर वापस लाने में  लेट-लतीफी हुई है, लापरवाही हुई है. जब पानी सर के ऊपर से बहने लगा तो केंद्र सरकार हरकत में आई. इससे पहले वे पांच राज्यों के चुनाव प्रचार में व्यस्त थे. संजय राउत ने कहा, ‘अब जिन्हें वहां से निकाल कर लाया जा रहा है, उनके बारे में भी खूब प्रचार किया जा रहा है. मनमोहन सिंह सरकार के वक्त भी युद्धग्रस्त भागों से हजार से ज्यादा लोगों को लाया गया था. कोई पब्लिसिटी नहीं हुई. ठीक है, आपको गाजे-बाजे से पब्लिसिटी करनी है, कीजिए. हमें एतराज नहीं है. लेकिन पहले बच्चों को बचाइए, बाद में गाजे-बाजे बजाइए. यह वक्त गाजे-बाजे बजाने का नहीं, ऐक्शन का है.’
यह भी पढ़ें- 
Maharashtra Unlock: आज से आधे महाराष्ट्र से सारे कोविड प्रतिबंध हट रहे हैं, 70 फीसदी वैक्सीनेशन वाले जिले अनलॉक; जानिए क्या-क्या बदलेगा
यह भी पढ़ें- 
Russia Ukraine War: नाम कमाने के पीछे ना जाएं, विद्यार्थियों की जान बचाएं; महाराष्ट्र से सांसद सुप्रिया सुले की मोदी सरकार से अपील

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected

We rely on ads to provide you content please disable your ad blocker to continue viewing Our Content

Refresh Page