अति क्रोध का कारण : प्रत्येक व्यक्ति अनेक भावनाओं से बंधा होता है। जैसे व्यक्ति हंसता है वैसे ही व्यक्ति को क्रोध आता है। साथ ही वह व्यक्ति भावुक होता है। यह सब स्वाभाविक है। क्योंकि हर व्यक्ति का स्वभाव एक जैसा नहीं होता। कुछ लोग मजाक करना पसंद करते हैं जबकि अन्य थोड़े गंभीर होते हैं। यहां तक ​​कि बातें करने वाले और हंसने वाले लोगों को भी चीजें पसंद नहीं आतीं। ऐसे में उन्हें गुस्सा आ जाता है। लेकिन, कुछ लोग चिड़चिड़े हो जाते हैं, हर हाल में ज्यादा गुस्सा करते हैं। हालाँकि, अत्यधिक क्रोध का स्वास्थ्य से क्या लेना-देना है? क्या आपने कभी जानने की कोशिश की है? दरअसल, मेडिकल साइंस का कहना है कि अगर आप हर छोटी-छोटी बात पर बार-बार गुस्सा और चिड़चिड़े हो जाते हैं, तो यह शरीर में विटामिन और मिनरल की कमी से जुड़ा हो सकता है। इस संबंध में विस्तृत जानकारी प्राप्त करें। 
‘इन’ बातों की कमी से क्रोध अधिक आता है
विटामिन बी6 की कमी: विटामिन बी6 हमारे शरीर में ब्रेन केमिकल की तरह काम करता है। यह ब्रेन फंक्शन को बेहतर बनाने में मदद करता है। अगर आपके शरीर में विटामिन बी 6 की कमी है, तो यह फील-गुड हार्मोन की कमी पैदा करता है, जिससे आपको गुस्सा आने लगता है। इसकी कमी से तंत्रिका तंत्र काम नहीं करता है। 
विटामिन बी 12 की कमी: जब शरीर में विटामिन बी 12 की कमी हो जाती है तो आपको हर समय थकान और सुस्ती महसूस हो सकती है। ऐसे में कई बार लोग आपके न चाहते हुए भी आपको महसूस कर सकते हैं। अगर किसी काम में मन न लगने की स्थिति में जबरदस्ती कोई काम किया जाए तो उसमें जलन हो सकती है। विटामिन बी12 की कमी के कारण भी आपको डिप्रेशन जैसे लक्षण महसूस हो सकते हैं।जिंक: जिंक हमारे शरीर में मानसिक स्वास्थ्य के लिए जिम्मेदार होता है। इसकी कमी से आपको डिप्रेशन के लक्षण अनुभव हो सकते हैं। आप बार-बार खराब मूड का अनुभव कर सकते हैं। घबराहट और चिड़चिड़ापन महसूस हो सकता है। जिंक के निम्न स्तर से ऑक्सीडेटिव तनाव हो सकता है।
मैग्नीशियम: मैग्नीशियम कभी-कभी तनाव प्रबंधन में मदद करता है। आप छोटी-छोटी बातों पर ओवररिएक्ट करते हैं और यहीं से आपकी गुस्सा करने की आदत शुरू हो जाती है। मैग्नीशियम एक शांत खनिज है जो तंत्रिका तंत्र को पोषण देता है और चिंता, भय, बेचैनी, बेचैनी और चिड़चिड़ापन को रोकने में मदद करता है। इसकी कमी होने पर भी आप चिड़चिड़े हो जाते हैं।
उपाय क्या है?
आप अपनी डाइट में मूड बूस्टिंग फूड्स को शामिल कर सकते हैं। अपने आहार में ऐसे खाद्य पदार्थों को शामिल करें जो विटामिन बी6 और विटामिन बी12 का पूरा लाभ उठा सकें। जिंक, मैग्नीशियम की कमी को पूरा करने के लिए आप मछली, ब्रोकली, साबुत अनाज खा सकते हैं। आपको हरी पत्तेदार सब्जियां, एवोकाडो और मांस भी खाना चाहिए।

By Sonya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *