Pathan: बॉलीवुड को जिंदा रखने के लिए जरूर देखनी चाहिए शाहरुख खान की फिल्म- बोले मनोज देसाई

Shah Rukh Khan Pathaan: जी7 यानी गेइटी और गैलेक्सी के साथ मराठा मंदिर मुंबई के कुछ पुराने थिएटर में से एक हैं. इस थिएटर ओनर ने शाहरुख खान की फिल्म को लेकर एक बड़ा बदलाव किया है.
Pathan: बॉलीवुड को जिंदा रखने के लिए जरूर देखनी चाहिए शाहरुख खान की फिल्म- बोले मनोज देसाईशाहरुख खानImage Credit source: yrf
Shah Rukh Khan Pathaan: आज यानी 25 जनवरी को सिनेमाघरों में रिलीज हुई शाहरुख खान की चर्चित फिल्म पठान को लेकर न सिर्फ उनके फैंस बल्कि थिएटर मलिक भी काफी एक्साइटेड हैं. लगभग 4 सालों के बाद बॉलीवुड के किंग खान परदे पर वापसी कर रहे हैं. G7 मल्टीप्लेक्स और मराठा मंदिर के ओनर मनोज देसाई ने 51 साल के इतिहास में शाहरुख खान के फैंस की गुजारिश पर थिएटर के शेड्यूल में काफी बड़ा बदलाव किया है. आमतौर पर इन थिएटर्स में 12 बजे से फिल्म की स्क्रीनिंग शुरू होती है, लेकिन मनोज देसाई ने पठान के शो सुबह 9 बजे से शुरू किए हैं.
के साथ की हुईं खास बातचीत में मनोज देसाई ने कहा कि “मुंबई और बेंगलुरु के शाहरुख खान के फैन क्लब की खास रिक्वेस्ट पर मॉर्निंग शो रखा गया है. ये गेइटी गैलेक्सी के इतिहास में पहली बार होगा जब किसी फिल्म का सुबह 9 बजे का शो होगा. दोनों जगह पर (जी7 मल्टीप्लेक्स और मराठा मंदिर) में फिल्म के आठ शो रखे गए हैं. 1972 से लेकर 2023 तक गेइटी गैलेक्सी के 51 साल के इतिहास में कभी भी मॉर्निंग शो नहीं चला है. सुबह 9 बजे का पहला शो ‘हाउसफुल’ हुआ है और बाकी शोज को भी अच्छा रेस्पॉन्स मिल रहा है.”
आज की बड़ी खबरें

मनोज देसाई का पब्लिक अपील
मनोज देसाई ने आगे कहा कि “26 जनवरी से गेइटी में दोपहर 12 बजे, दोपहर 3 बजे, शाम 6 बजे और रात 9 बजे शो होंगे. वहीं, गैलेक्सी में दोपहर 12:30, दोपहर 3:30, शाम 6:30 और रात 9:30 बजे के शो होंगे. मराठा मंदिर में दोपहर 3:30, शाम 6:30 और रात 9:30 बजे शो होंगे. बॉलीवुड को वापस जिंदा रखने के लिए सभी सिनेमा प्रेमियों को शाहरुख खान की इस फिल्म को थिएटर जाकर जरूर देखनी चाहिए.”ये भी पढ़ें

28 साल से चल रही है शाहरुख की फिल्म
मनोज देसाई ने ये भी साझा किया कि “शाहरुख उनकी फिल्म देखने कई बार आ चुके हैं. फौजी से उन्होंने अपनी शुरुआत की थी. हमारे थिएटर (मराठा मंदिर) में 28 साल से वो रोमांस कर रहे हैं. मेरे लिए मेरा ये थिएटर हिन्दू और मुस्लिम दोनों के लिए बना है. दोनों से हमारा ये थिएटर है. ये फिल्म चलनी चाहिए और मुझे ये आत्मविश्वास है इसलिए मैंने इसके 8 शो चलाए हैं.”

By Nikita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *