खराब कोलेस्ट्रॉल आयुर्वेद उपचार : कोलेस्ट्रॉल इन दिनों एक खतरनाक बीमारी के रूप में उभर रहा है। कोलेस्ट्रॉल जीवनशैली से जुड़ी बीमारी है। कोलेस्ट्रॉल को सही समय पर नियंत्रित न किया जाए तो कई स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इससे दिल से जुड़ी गंभीर बीमारियां भी होती हैं। कोलेस्ट्रॉल का कोई इलाज नहीं है। लेकिन कुछ घरेलू नुस्खों की मदद से इसे काबू में रखा जा सकता है। 
कोलेस्ट्रॉल के आयुर्वेदिक उपाय शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने के लिए कई आयुर्वेदिक उपाय किए जा सकते हैं । इन्हीं में से एक है काजू और अदरक। आंवले और अदरक के रस के मिश्रण का सेवन करने से खराब कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम हो सकता है। आंवले और अदरक के रस के प्रभाव को आयुर्वेद ही नहीं बल्कि आधुनिक विज्ञान भी स्वीकार करता है। आंवले और अदरक के रस में कई ऐसे गुण पाए गए हैं जो एलडीएल या खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करते हैं। 
 
कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने के लिए काजू और अदरक का इस्तेमाल कैसे करें? :शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल के बढ़ते स्तर को कम करने के लिए आंवले और अदरक के रस का इस्तेमाल करने का तरीका बेहद आसान है। 
1. 2 मध्यम आकार के आंवले के टुकड़े और एक ही आकार के अदरक के टुकड़े लें। 2. आंवले और अदरक दोनों को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें।3. इन्हें आधा गिलास पानी के साथ मिक्सर में डालकर अच्छी तरह पीस लें।4. अब इस मिश्रण को कपड़े या छलनी की सहायता से छान लें और रस का सेवन करें।5. यह रस जीभ पर न लगे। इसका स्वाद बढ़ाने के लिए पानी की जगह संतरे या अनार का जूस भी इस्तेमाल किया जा सकता है. थोड़ा सा नमक भी डाल सकते हैं। 
 
आंवले और अदरक का जूस कब पिएं? :ये दोनों जूस पूरी तरह नेचुरल हैं। इसका सेवन कभी भी किया जा सकता है। हालांकि, कुछ आयुर्वेदिक विशेषज्ञ यह भी कहते हैं कि खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने के लिए आंवले और अदरक के रस के मिश्रण का सेवन सुबह के समय ही करना चाहिए। इसके अलावा लंच के 1 घंटे पहले या बाद में भी इसका सेवन किया जा सकता है।
 

By Sonya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *